शरद पवार के ऑफर के बीच शिवसेना को साधने में लगे अमित शाह, कल उद्धव से मिलेंगे

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार के शिवसेना को दिए ऑफर के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे. अमित शाह और उद्धव ठाकरे की मुलाकात कल शाम छह बजे उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री में होगी. पालघर लोकसभा उपचुनाव की वजह से बीजेपी और शिवसेना के बीच बढ़ती तल्खी और शरद पवार के बयान की वजह से ये बैठक काफी अहम है.राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार के शिवसेना को दिए ऑफर के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे. अमित शाह और उद्धव ठाकरे की मुलाकात कल शाम छह बजे उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री में होगी. पालघर लोकसभा उपचुनाव की वजह से बीजेपी और शिवसेना के बीच बढ़ती तल्खी और शरद पवार के बयान की वजह से ये बैठक काफी अहम है.  पवार ने शिवसेना को दिया ये ऑफर  महाराष्ट्र की गोंदिया भंडारा लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत से एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार जोश में हैं. शरद पवार ने शिवसेना को साथ आने का ऑफर दिया है. उन्होंने कहा है कि पालघर के नतीजे के बाद बीजेपी विरोधियों को एक साथ होना चाहिए. बता दें कि  पालघर में शिवसेना और बीजेपी आमने-सामने थी, जिसमें बीजेपी को जीत मिली थी.  शरद पवार ने कहा, ''पालघर में बीजेपी के खिलाफ शिवसेना, सीपीएम और हितेलक ठाकूर को ज्यादा वोट मिले. इसे देखते हुए पूरे विपक्ष को बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर चुनाव लड़ना चाहिए. जिस भी राज्य में जो भी दल बीजेपी को हराने में सक्षम हो उसे साथ मिलकर गठबंधन बनाना चाहिए. जो संविधान का सन्मान करते है और कॉमन प्रोग्राम का का सम्मान कर सकते हैं, उन्हें एक साथ आना चाहिए.''  केंद्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं उद्धव  बता दें कि शिवसेना महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ सरकार में है लेकिन समय समय पर पार्टी के नेताओँ के साथ खुद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी केंद्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं. हाल ही में उपचुनावों के दौरान उद्धव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी तीखे हमले किए थे.  चुनाव पूर्व शिवसेना से गठबंधन की कोशिश करें- फडणवीस  कल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र प्रदेश पदाधिकारी बैठक में आने वाले चुनावो में शिवसेना को साथ लेने की कोशिशों पर चर्चा हुई थी. देवेन्द्र फडणवीस ने पार्टी पदाधिकारियों से कहा है कि वह चुनाव पूर्व शिवसेना से गठबंधन की कोशिश करें. सूबे में अगले साल पहले लोकसभा और फिर विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे.  महाराष्ट्र विधानसभा की स्थिति  साल 2014 के विधानसभा चुनाव में 288 सीटों में से बीजेपी ने 122, शिवसेना ने 60, कांग्रेस ने 42, एनसीपी ने 41 सीटें जीती थीं. इस चुनाव में बीजेपी और शिवसेना अलग-अलग लड़े थे. क्योंकि चुनाव से पहले शिवसेना ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ लिया था. हालांकि बाद में बीजेपी ने शिवसेना से गठबंधन करके राज्य में अपनी सरकार बना ली थी.  वहीं, साल 2014 के लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र की 48 सीटों में से बीजेपी और शिवसेना ने 42 सीटें जीती थीं. ऐसे में अगले साल होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी शिवसेना से सभी मतभेदों को दूर करना चाहेगी. क्योंकि हाल के उपचुनाव में बीजेपी को विपक्ष से कड़ी टक्कर मिली है.  आज चुनाव आयोग जाएगी कांग्रेस  पालघर लोकसभा सीट के नतीजों को लेकर कांग्रेस चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाएगी. कांग्रेस नेता पालघर के परिणामों को चुनाव से पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के विवादित वायरल बयान को लेकर शिकायत करेंगे. कांग्रेस नेता आज सुबह 11 बजे चुनाव आयोग जा सकते हैं.

पवार ने शिवसेना को दिया ये ऑफर

महाराष्ट्र की गोंदिया भंडारा लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत से एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार जोश में हैं. शरद पवार ने शिवसेना को साथ आने का ऑफर दिया है. उन्होंने कहा है कि पालघर के नतीजे के बाद बीजेपी विरोधियों को एक साथ होना चाहिए. बता दें कि  पालघर में शिवसेना और बीजेपी आमने-सामने थी, जिसमें बीजेपी को जीत मिली थी.

शरद पवार ने कहा, ”पालघर में बीजेपी के खिलाफ शिवसेना, सीपीएम और हितेलक ठाकूर को ज्यादा वोट मिले. इसे देखते हुए पूरे विपक्ष को बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर चुनाव लड़ना चाहिए. जिस भी राज्य में जो भी दल बीजेपी को हराने में सक्षम हो उसे साथ मिलकर गठबंधन बनाना चाहिए. जो संविधान का सन्मान करते है और कॉमन प्रोग्राम का का सम्मान कर सकते हैं, उन्हें एक साथ आना चाहिए.”

केंद्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं उद्धव

बता दें कि शिवसेना महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ सरकार में है लेकिन समय समय पर पार्टी के नेताओँ के साथ खुद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी केंद्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं. हाल ही में उपचुनावों के दौरान उद्धव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी तीखे हमले किए थे.

चुनाव पूर्व शिवसेना से गठबंधन की कोशिश करें- फडणवीस

कल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र प्रदेश पदाधिकारी बैठक में आने वाले चुनावो में शिवसेना को साथ लेने की कोशिशों पर चर्चा हुई थी. देवेन्द्र फडणवीस ने पार्टी पदाधिकारियों से कहा है कि वह चुनाव पूर्व शिवसेना से गठबंधन की कोशिश करें. सूबे में अगले साल पहले लोकसभा और फिर विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे.

महाराष्ट्र विधानसभा की स्थिति

साल 2014 के विधानसभा चुनाव में 288 सीटों में से बीजेपी ने 122, शिवसेना ने 60, कांग्रेस ने 42, एनसीपी ने 41 सीटें जीती थीं. इस चुनाव में बीजेपी और शिवसेना अलग-अलग लड़े थे. क्योंकि चुनाव से पहले शिवसेना ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ लिया था. हालांकि बाद में बीजेपी ने शिवसेना से गठबंधन करके राज्य में अपनी सरकार बना ली थी.

वहीं, साल 2014 के लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र की 48 सीटों में से बीजेपी और शिवसेना ने 42 सीटें जीती थीं. ऐसे में अगले साल होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी शिवसेना से सभी मतभेदों को दूर करना चाहेगी. क्योंकि हाल के उपचुनाव में बीजेपी को विपक्ष से कड़ी टक्कर मिली है.

आज चुनाव आयोग जाएगी कांग्रेस

पालघर लोकसभा सीट के नतीजों को लेकर कांग्रेस चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाएगी. कांग्रेस नेता पालघर के परिणामों को चुनाव से पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के विवादित वायरल बयान को लेकर शिकायत करेंगे. कांग्रेस नेता आज सुबह 11 बजे चुनाव आयोग जा सकते हैं.

Loading...