रुपयों से भरा बैग वापस कर पेश की ईमानदारी की मिसाल

लखनऊ :  आलमबाग बस टर्मिनल के एआरएम मतीन अहमद और प्रभारी रुपेश कुमार की टीम ने बस में छूटे एक व्यक्ति का रूपयों और ज्वेलरी से भरा बैग सोनौली से मंगाकर सकुशल वापस कर कर्तव्यनिष्ठा और ईमानदारी की मिसाल पेश की है। पूर्वी दिल्ली निवासी फर्मोद कौशाम्बी बस स्टैंड से लखनऊ आने के लिए सोनौली डिपो की बस यूपी 32 एनएन 0347 में सवार होकर दिल्ली से आलमबाग बस स्टैंड पर पहुंचे। वहां भूल से उनका बैग जिसमें लगभग 2 लाख रूपए की ज्वैलरी और कैश बस में ही छूट गया। जब तक उन्हें बैग छूटने का अहसास हुआ तब तक बस लखनऊ से सोनौली के लिए निकल चुकी थी।

उन्होंने तुरंत इस बात को आलमबाग बस टर्मिनल के एआरएम मतीन अहमद को बताई। एआरएम मतीन अहमद ने वहां मौजूद प्रभारी रुपेश कुमार, वसीम सिद्धिकी और ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों से इमरजेंसी मीटिंग कर तत्काल प्रभावी कार्यवाही करते हुए बौग का पता लगा कर सोनौली से बैग सुरक्षित मंगाकर रुपेश कुमार और वसीम सिद्धिकी ने श्री फर्मोद को वापस कर कर्तव्यनिष्ठा की मिसाल पेश की है। श्री फर्मोद ने पूरी टीम की भूरि—भूरि प्रशंसा करते हुए धन्यवाद दिया।

Loading...
IGNITED MINDS