आखिरी टेस्ट में भारत को हराकर, दुनिया को खास संदेश देना चाहते हैं इंग्लिश कप्तान जो रूट

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने कहा कि वह पांचवां और आखिरी टेस्ट मैच जीतकर एलिस्टेयर कुक को भावनात्मक विदाई देना चाहते हैं। 4-1 से जीत दर्ज करके इंग्लिश टीम विश्व में बड़ा संदेश देगी। रूट ने कहा कि कुक ने उन्हें साउथैंप्टन में अपने संन्यास के बारे में बताया था। कुक का संन्यास लेना टीम के लिए परेशानी पैदा नहीं करेगा।

रूट ने कहा कि यह कुक के लिए बेहद ही भावनात्मक सप्ताह होगा। उनके लिए भी जो कुक के साथ काफी क्रिकेट खेले हैं। हमारे ड्रेसिंग रूम के लिए यह एक बड़ा नुकसान होगा। लेकिन, मैं इस मुकाबले को खेलने के लिए बेहद ही रोमांचित हूं। मेरा पूरा फोकस इस मुकाबले को जीतने पर है। हमने ऐसा पहले भी किया है, लेकिन विश्व की नंबर एक टीम को 4-1 से हराना विश्व को एक बड़ा संदेश देगा।

इसके साथ ही रूट ने कहा कि कुक के संन्यास को लेकर हमने अभी कुछ तय नहीं किया है, लेकिन हम जरूर कुछ अलग करेंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि मैदान, मौका और हर कोई उनके लिए कुछ करना चाहेगा। मुझे नहीं लगता कि टीम पर इसका कोई फर्क पड़ेगा, बल्कि टीम के लिए यह एक प्रेरणा का काम करेगा। कुक का 12 साल का शानदार करियर रहा है। हर कोई ऐसे रिकॉर्ड बनाने की सोचता है। विश्व में ऐसे ज्यादा ओपनर नहीं है जिनकी कुक से तुलना हो सके। ऐसे में उनका स्थान भरना आसान नहीं होगा।

कुक के संन्यास के फैसले को बदलने के बारे में रूट ने कहा कि मैं थोड़ा अचंभित था, लेकिन वह अपने फैसले पर अड़े रहे। उनके चेहरे को देखकर लगा कि वह इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं। जब आपको सामने से ऐसे मत मिलें तो उनसे बात करने का कोई फायदा नहीं होता है। रूट ने कहा कि उन्होंने मेरे ऊपर बड़ा प्रभाव छोड़ा है। पहले उन्होंने मुझे खेलने का मौका दिया। वह एक बहुत ही जमीन से जुड़े हुए सितारे हैं। मैं उन्हें बहुत याद करूंगा। ना सिर्फ उनके रनों के लिए, बल्कि जो भी उन्होंने एक इंसान के तौर पर टीम को दिया उसके लिए भी।’
Loading...
IGNITED MINDS