भारतीय अर्थव्यवस्था होगी 5000 अरब डॉलर कि प्रधानमंत्री मोदी, ‘वर्ष 2022 तक’…  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था वर्ष 2022 तक दोगुनी होकर 5,000 अरब डॉलर की हो जाएगी। पीएम मोदी इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्स्पो सेंटर के शिलान्यास के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा ‘भारत की योजना 2022 तक अपनी जीडीपी बढ़ाकर पांच ट्रिलियन डॉलर (5,000 अरब डॉलर) करने की है जिसमें विनिर्माण और कृषि का योगदान एक-एक ट्रिलियन डॉलर (1,000 डॉलर) होगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था वर्ष 2022 तक दोगुनी होकर 5,000 अरब डॉलर की हो जाएगी। पीएम मोदी इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्स्पो सेंटर के शिलान्यास के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा 'भारत की योजना 2022 तक अपनी जीडीपी बढ़ाकर पांच ट्रिलियन डॉलर (5,000 अरब डॉलर) करने की है जिसमें विनिर्माण और कृषि का योगदान एक-एक ट्रिलियन डॉलर (1,000 डॉलर) होगा।'  प्रधानमंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा जारी है। पीएम ने कहा सरकार का प्रयास है कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में निर्यात का हिस्सा बढ़ाकर 40 फीसद किया जाए।  इस दौरान मोदी ने सरकारी क्षेत्र के तीन बैंकों- देना बैंक, विजया बैंक तथा बैंक ऑफ बड़ौदा के विलय की घोषणा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 8 फीसद से अधिक दर से वृद्धि कर रही है। नौकरी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और खुदरा (रिटेल) क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं। उन्होंने (जीएसटी) के क्रियान्वयन के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदम का भी जिक्र किया।   ईरान से तेल खरीद का भारत रुपये में करेगा भुगतान यह भी पढ़ें पीएम ने कहा कि सरकार के मेक इन इंडिया लाने के बाद से 80 फीसद मोबाइल फोन देश में बन रहे हैं। इससे विदेशी मुद्रा खर्च में तीन लाख करोड़ रुपये की बचत करने में मदद मिली है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा जारी है। पीएम ने कहा सरकार का प्रयास है कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में निर्यात का हिस्सा बढ़ाकर 40 फीसद किया जाए।

इस दौरान मोदी ने सरकारी क्षेत्र के तीन बैंकों- देना बैंक, विजया बैंक तथा बैंक ऑफ बड़ौदा के विलय की घोषणा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 8 फीसद से अधिक दर से वृद्धि कर रही है। नौकरी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और खुदरा (रिटेल) क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं। उन्होंने (जीएसटी) के क्रियान्वयन के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदम का भी जिक्र किया।

पीएम ने कहा कि सरकार के मेक इन इंडिया लाने के बाद से 80 फीसद मोबाइल फोन देश में बन रहे हैं। इससे विदेशी मुद्रा खर्च में तीन लाख करोड़ रुपये की बचत करने में मदद मिली है।

 
 

Loading...
IGNITED MINDS