भारत ने बांग्लादेश के चार नागरिकों को किया ‘पद्म सम्मान’ से सम्मानित

नई दिल्ली (शाश्वत तिवारी) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बांग्लादेश के चार नागरिकों को वर्ष 2020-2021 के भारत के प्रतिष्ठित नागरिक सम्मान से सम्मानित किया। सम्मान पाने वालों में बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के दिग्गज रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल काजी सज्जाद अली जहीर, बांग्लादेश के पूर्व उच्चायुक्त रहे मुअज्जम अली बांग्लादेश राष्ट्रीय संग्रहालय के संस्थापक निदेशक प्रो इनामुल हक और बांग्लादेश मुक्ति संग्रामी शिल्पी संगठन की सह-संस्थापक संजीदा खातून शामिल हैं। राष्ट्रपति भवन में सोमवार को आयोजित नागरिक अलंकरण समारोह में राष्ट्रपति कोविंद ने सभी को पद्म पुरस्कार प्रदान किए।

इस बारे में राष्ट्रपति भवन ने एक ट्वीट थ्रेड में कहा भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति कोविंद ने सार्वजनिक मामलों के लिए लेफ्टिनेंट कर्नल काजी सज्जाद अली जहीर (सेवानिवृत्त) को पद्म श्री प्रदान किया। वह बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के स्वतंत्र शोधकर्ता और लेखक हैं। वह मुक्ति संग्राम में शामिल हुए और भारतीय सेना के साथ कई लड़ाइयों में भाग लिया था। राष्ट्रपति भवन ने अपने ट्वीट में आगे कहा कि राष्ट्रपति कोविंद ने पुरातत्व के लिए प्रोफेसर इनामुल हक को पद्मश्री प्रदान किया। वह एक प्रतिष्ठित पुरातत्वविद् और बांग्लादेश में एक उच्च सम्मानित सांस्कृतिक कार्यकर्ता हैं।

भारत में बांग्लादेश के पूर्व उच्चायुक्त सैयद मुअज्जम अली को सार्वजनिक मामलों के लिए भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से नवाजा गया। सैयद मुअज्जम अली की पत्नी तुहफा जमां अली ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से पुरस्कार ग्रहण किया। मुअज्जम अली का भारत में बांग्लादेश उच्चायुक्त के रूप में अपना 5 साल का लंबा कार्यकाल पूरा करने के बाद 30 दिसंबर, 2019 को ढाका में निधन हो गया था। इसके अलावा बांग्लादेश मुक्ति संग्रामी शिल्पी संगठन की सह-संस्थापक और बांग्लादेश मुक्ति संग्राम की नायिका संजीदा खातून को पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

लेफ्टिनेंट कर्नल अली जहीर से मिले जयशंकर:

भारतीय विदेश मंत्री डॉ० एस० जयशंकर ने लेफ्टिनेंट कर्नल काजी सज्जाद अली जहीर (सेवानिवृत्त) से मुलाकात की। इस बारे में उन्होंने ट्वीट कर कहा लेफ्टिनेंट कर्नल काजी सज्जाद अली जहीर (सेवानिवृत्त) से मिलकर खुशी हुई, जिन्हें आज पद्म श्री से सम्मानित किया गया, जो भारत और बांग्लादेश के बीच दोस्ती का शक्तिशाली प्रतीक है।

Loading...