बेटा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी का एजेंट, माता-पिता नहीं जानते क्या होता आइएसआइ

 बेटा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ का एजेंट और माता-पिता को यह भी नहीं पता कि यह बला है क्या। सामान्य पहाड़ी सोच रखने वाले मां-बाप गांव में पुलिस या पटवारी ही आ जाए तो उसे ही बड़ी बात समझते हैं। बेटे को पुलिस द्वारा घर से उठाए जाने के बाद हुई बदनामी ने बुजुर्ग दंपती को भी शर्मसार कर दिया है। पिछले तीन दिनों से इन दोनों की दुनिया अपने घर और आंगन तक सिमट कर रह गई है। लोग देखते ही दोनों घर के अंदर चले जाते हैं। हालांकि उनका दिल बेटे को देशद्रोही मानने को तैयार नहीं है।

तहसील के गराली गांव निवासी रमेश सिंह कन्याल को तीन दिन पहले उत्तर प्रदेश एटीएस उसके डीडीहाट स्थित किराए के कमरे से उठा कर ले गई थी। उसके आइएसआइ एजेंट होने की पुष्टि हो गई। गराली से लगभग आठ किमी दूर किरोली में रहने वाले उसके बूढ़े पिता आन सिंह (75) और माता आनंदी (70) को जैसे ही पुत्र के गिरफ्तार  होने की जानकारी मिली तो दोनों सदमे जैसी स्थिति में हैं।

पुत्र के आइएसआइ एजेंट होने के बारे में वह कुछ भी नहीं जानते हैं। उन्हें तो आइएसआइ क्या होता है इसका भी पता नहीं है। आन सिंह अपने पुत्र के देशद्रोही होने की बात से बेहद आहत हैं। वह इसे मन से स्वीकार भी नहीं कर रहे हैं। यही नहीं रमेश की 90 वर्षीय दादी भी गिरफ्तारी की बात सुनने के बाद से बेसुध सी हैं
Loading...
IGNITED MINDS