कांग्रेस सांसद ने पानी भरने के लिए चेन खींचकर रुकवा दी ट्रेन

अमृतसर के कांग्रेस सांसद जीएस औजला ने कहा है कि ट्रेन के शौचालय में पानी की कमी की यात्रियों की शिकायत के बाद पानी भरने के लिए उन्हें ट्रेन की आपात जंजीर खींचनी पड़ी. भाषा के मुताबिक, रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ औजला ने अमृतसर में शताब्दी एक्सप्रेस समेत कई गाड़ियों का औचक निरीक्षण किया.अमृतसर के कांग्रेस सांसद जीएस औजला ने कहा है कि ट्रेन के शौचालय में पानी की कमी की यात्रियों की शिकायत के बाद पानी भरने के लिए उन्हें ट्रेन की आपात जंजीर खींचनी पड़ी. भाषा के मुताबिक, रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ औजला ने अमृतसर में शताब्दी एक्सप्रेस समेत कई गाड़ियों का औचक निरीक्षण किया.  औजला ने दावा किया कि टाटा मूरी एक्सप्रेस के यात्रियों ने उनसे शिकायत की कि वह शौचालय नहीं जा सकते हैं क्योंकि वहां पानी नहीं है. इसके बाद पानी की टंकी भरने के लिए उन्हें गाड़ी की आपातकालीन जंजीर खींचनी पड़ी.  ट्रेन में खराब सेवा देने वालों की अब खैर नहीं, रेलवे की है ये तैयारी  सांसद ने कहा कि उन्होंने कर्मियों को ट्रेन में पानी भरने के लिए कहा लेकिन गाड़ी के चालक ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया. ‘इस पर मैंने ट्रेन की जंजीर खींच कर इसे रुकवा दिया.’ उन्होंने बताया कि ट्रेन के रवाना होने से पहले उसमें पानी भरा गया और शौचालय को साफ किया गया.  ये भी पढ़ें- ट्रेन में लिमिट से ज्यादा सामान ले जाने पर अब जुर्माना  रेलवे रिजर्व कोच में अब हद से ज्यादा लगेज लेकर सफर करने वाले यात्रियों पर लगाम कसने वाली है. रेलवे इसके लिए देशभर के सभी रेल मंडलों में 8 से 22 जून तक एक अभियान चला रही है. इसके तहत उन मुसाफिरों पर विशेष नजर रखी जाएगी जो ट्रेन के रिजर्व कोच में निर्धारित वजन से अधिक सामान लेकर जाते हैं.  फिलहाल श्रेणीवार सामान ले जाने की सीमा फ़र्स्ट एसी में 70 किलो है जबकि अधिकतम छूट 15 किलो है. जबकि सेकंड एसी में ये छूट 50 किलो और अधिकतम छूट 10 किलो है. इसके अलावा थर्ड एसी में मुफ्त सीमा 40 किलो ले जाने की है, जबकि अधिकतम छूट 10 किलो है.

औजला ने दावा किया कि टाटा मूरी एक्सप्रेस के यात्रियों ने उनसे शिकायत की कि वह शौचालय नहीं जा सकते हैं क्योंकि वहां पानी नहीं है. इसके बाद पानी की टंकी भरने के लिए उन्हें गाड़ी की आपातकालीन जंजीर खींचनी पड़ी.

सांसद ने कहा कि उन्होंने कर्मियों को ट्रेन में पानी भरने के लिए कहा लेकिन गाड़ी के चालक ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया. ‘इस पर मैंने ट्रेन की जंजीर खींच कर इसे रुकवा दिया.’ उन्होंने बताया कि ट्रेन के रवाना होने से पहले उसमें पानी भरा गया और शौचालय को साफ किया गया.

रेलवे रिजर्व कोच में अब हद से ज्यादा लगेज लेकर सफर करने वाले यात्रियों पर लगाम कसने वाली है. रेलवे इसके लिए देशभर के सभी रेल मंडलों में 8 से 22 जून तक एक अभियान चला रही है. इसके तहत उन मुसाफिरों पर विशेष नजर रखी जाएगी जो ट्रेन के रिजर्व कोच में निर्धारित वजन से अधिक सामान लेकर जाते हैं.

फिलहाल श्रेणीवार सामान ले जाने की सीमा फ़र्स्ट एसी में 70 किलो है जबकि अधिकतम छूट 15 किलो है. जबकि सेकंड एसी में ये छूट 50 किलो और अधिकतम छूट 10 किलो है. इसके अलावा थर्ड एसी में मुफ्त सीमा 40 किलो ले जाने की है, जबकि अधिकतम छूट 10 किलो है.

Loading...
IGNITED MINDS