प्रकाश पर्व पर हुए विशेष सत्र में नहीं पहुंचे सिद्धू, पाक जाने के लिए विदेश मंत्री को फिर लिखा पत्र

पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में बुधवार को आयोजित पंजाब विधानसभा के विशेष सत्र में तो नहीं पहुंचे, लेकिन पाकिस्तान जाने के लिए उन्होंने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को फिर पत्र लिखा है। सिद्धू ने पाकिस्तान से आए निमंत्रण का हवाला देते हुए पाक जाने के लिए विदेश मंत्री को दो विकल्प सुझाया है। पहला विकल्प कॉरिडोर के रास्ते नौ नवंबर को साढ़े नौ बजे जाने का दिया है, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर को कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी के उद्घाटन से पहले ही कॉरिडोर के रास्ते पाक जाने की मांगी इजाजत

सिद्धू ने लिखा है कि वह 9 नवंबर को सुबह साढ़े नौ बजे कॉरिडोर के जरिये पाकिस्तान जाना चाहते हैं ताकि 11 बजे वहां होने वाले उद्घाटन समारोह में हिस्सा ले सकें। इससे पूर्व वह गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर में शुकराना अदा करेंगे और संगत के साथ लंगर छकेंगे। उद्घाटन समारोह में शामिल होने के बाद शाम को वापस आ जाएंगे।

उन्‍होंने पत्र में लिखा है कि अगर कॉरिडोर के रास्ते जाने की मंजूरी देना संभव नहीं है तो वह अटारी-वाघा सड़क मार्ग से गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर जाना चाहेंगे। इसके लिए वह 8 नवंबर को पाकिस्‍तान जाएंगे और रात को करतारपुर गुरुद्वारे में रुकेंगे। अगले दिन उद्घाटन समारोह में शिरकत करने के बाद लौट आएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नौ नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे और पहले जत्थे को रवाना करेंगे। इसी दिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी अपने हिस्से के कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे।

उल्लेखनीय है कि विधानसभा के विशेष सत्र में सभी की निगाहें इस बात पर थीं कि सिद्धू सदन में आते हैैं या नहीं। विशेष सत्र में उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, पंजाब व हरियाणा के राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित दोनों राज्यों के विधायक शामिल हुए। पंजाब की कैबिनेट से इस्तीफा देने के बाद लगातार यह दूसरा अवसर है जब सिद्धू सदन से गायब रहे। उन्होंने कांग्रेस से भी दूरी बना रखी है।

Loading...
IGNITED MINDS