Farrukhabad : मछली पकड़ने गये युवकों को नदी में मिले हैंड ग्रेनेड

फर्रुखाबाद : शहर कोतवाली क्षेत्र में रविवार को गंगा नदी किनारे दो शक्ति शाली हैंड ग्रेनेड मिलने से हड़कम्प मच गया। हालांकि यह कोई नई बात नहीं है, यहां इससे पूर्व भी तीन बार जीवित हैंड ग्रेनेड मिल चुके हैं। शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव धीमर पूरा के राम और विनेश दो बच्चे गंगा नदी से मछली पकड़ने गए थे। युवकों को मछली की जगह जब गंगा से जीवित हैंड ग्रेनेड मिले से हड़कम्प मच गया। नदी में एक बार फिर मिले हैंड ग्रेनेड मिलने से पुलिस महकमे में खलबली मच गई। इससे पूर्व  थाना मऊ दरवाजा क्षेत्र में इसी तरह के दो जीवित हैंड ग्रेनेड मिल चुके हैं। रेलवे स्टेशन फर्रुखाबाद पर टाइम बम बरामद हो चुका है।
अभी एक माह पूर्व ही गंगातट पर शक्ति शाली ग्रेनेड मिल चुका है। इन सब मामलों में पुलिस की कार्यवाही ग्रेनेड निष्क्रिय करने तक ही सीमित रही। जिले में सेना की दो—दो ब्रिगेड होने के बाद भी पुलिस ने हैंड ग्रेनेड मिलने की घटनाओं को गम्भीरता से नहीं लिया, न ही यह उजागर हो सका कि आखिर यह शक्ति शाली हैंड ग्रेनेड कहां से आते हैं। आज फिर गंगा के अंदर से दो शक्ति शाली ग्रेनेड मिले हैं। इस मामले में अभी तो पुलिस इन ग्रेनेडों के आने का पता लगाने का दावा कर रही है।

बताते चलें कि पांचाल घाट गंगा तट का इतिहास महाभारत काल से जुड़ा हुआ है। यहां कार्तिक पूर्णिमा के एक दिन पूर्व से विशाल मेला लगता है। इस मेले में लाखों की संख्या में गंगा भक्त आकर आस्था की डुबकी लगाते हैं। शहर कोतवाल देवेंद्र द्विवेदी ने कहा कि पुलिस पूरी तरह सक्रिय है। इस बार यह पता जरूर लगाया जायेगा कि हैंड ग्रेनेड कहां से आये हैं। उन्होंने कहा मेले में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Loading...
IGNITED MINDS