CM योगी ने जेल मुख्यालय के कमांड सेंटर में वीडियो वॉल का किया लोकार्पण

टेक्नोलॉजी के उपयोग से कार्यों में पारदर्शिता और तेजी आई, जेलों में हुए सुधार
यह वीडियो वॉल आर्टीफिशियल इंटलिजेंस से संचालित होगा, 50 जेलें इससे जुड़ी

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि टेक्नोलॉजी के उपयोग से कार्यों में पारदर्शिता और तेजी आई है। तकनीक के माध्यम से किसी भी प्रकार की घटना और दुर्घटना को रोका जा सकता है। तकनीक के माध्यम से जेलों में व्यापक सुधार हुए हैं। ये तकनीक का ही कमाल है कि जेल के बंदियों से मिलने आने वाले लोगों पर भी नजर रखी जा सकेगी। देश में पहली बार वीडियो वॉल जैसी तकनीक जेलों में प्रयोग किया जा रहा है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को जेल मुख्यालय के कमांड सेंटर में वीडियो वॉल के लोकार्पण के समय कही। योगी ने कहा कि यह वीडियो वॉल ‘आर्टीफिशियल इंटलिजेंस से संचालित होगा। इसके जरिए मुख्यालय को जेलों की गतिविधियों का पता चल सकेगा। प्रदेश की 50 जेलें इस सुविधा से जोड़ी गई हैं। उन्होंने कहा कि विगत ढाई वर्ष के दौरान प्रदेश के अंदर बड़ी संख्या में पुलिस बल की भर्ती की प्रक्रिया को पूरे पारदर्शी तरीके से किया गया है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि वीडियो वॉल के माध्यम से जेलों की 24 घंटे निगरानी की जा सकेगी। इससे जेलों में कैदियों के भागने, बवाल करने या फिर प्रतिबंधित क्षेत्र में किसी भी संदिग्ध के प्रवेश करते ही जेल मुख्यालय को अलर्ट मिल जाएगा। इसके जरिए बंदियों से मिलने आने वाले लोगों पर भी नजर रखी जा सकेगी। यही नहीं, जेलों में होने वाली हर गतिविधि पर अलर्ट वाला मैसेज वीडियो वॉल के साथ ही मोबाइल पर भी मिल सकेगा। इसके लिए एक ऐप बनाया गया है। इस ऐप को डाउनलोड करते ही मोबाइल पर इसका अलर्ट मिलने लगेगा।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि एक समय ऐसा भी था, जब प्रदेश की जेलों से अपराध संचालित होते थे। जेल अपराधियों के गढ़ बन चुके थे। लेकिन हमारी सरकार बनने के बाद जेलों में व्यापक सुधार किए गए। वीडियो वाल उसी सुधार की दिशा में बड़ा कदम है। टेक्नोलॉजी की उपयोग की दिशा में एक बहुत बेहतर प्रयास है। उन्होंने कहा कि इतना बड़ा मैन पावर जो आपके पास मौजूद है, उसके नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक ऊर्जा में बदलने की दिशा में बेहतर प्रयास हो सकता है। कारागार विभाग को इस बारे में अवश्य सोचना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जेल में एक लाख लोगों को बैठाकर खाना खिलाते हैं, अगर उन्हें किसी काम में लगा सके, किसी रचनात्मक कार्यक्रमों में जोड़ सकें, तो यह पूरे देश के लिए अनुकरणीय उदाहरण हो सकता है। इससे जेल में व्यापक सुधार आ सकता है।

योगी ने कहा कि हमें इस बात पर जरूर ध्यान देना चाहिए कि कारागारों के अंदर अपराधी और अपराधिक प्रवृत्ति के तत्वों पर पूरी सख्ती होनी चाहिए। अन्य बंदियों को सभी तरह की सुविधाएं भी मिलनी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनपदों में तैनात अधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल बना कर जेलों की रेंडम चेकिंग किए जाएं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज का दिन अत्यंत महत्वपूर्ण है। देश के संविधान के शिल्पी बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर का आज महापरिनिर्वाण दिवस है। बाबा साहब ने एक बात कही थी कि महत्वपूर्ण यह नहीं कि हमारा जो संविधान है वह कितना बड़ा है या कितना अच्छा है। महत्वपूर्ण यह है, कि इस विधान को लागू करने वाले लोग कैसे हैं। इस मौके पर जेल प्रशासन एवं सुधार विभाग के राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी, अपर मुख्य सचिव गृह व जेल अवनीश कुमार अवस्थी तथा डीजी जेल आंनद कुमार के अलावा पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Loading...
IGNITED MINDS