बनारस का पान हमारी शान, इसका अपमान बर्दाश्त नहीं!

बनारसियों ने फूंका फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप का पुतला

वाराणसी : शुक्रवार 21 फरवरी को बनारस वाले मिश्राजी के नेतृत्व में फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप का पुतला फूंका गया। पुतला फूंकने के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए बनारस वाले मिश्राजी ने कहा कि एक न्यूज़ चैनल न्यूजलॉन्ड्री में अनुराग कश्यप ने अपने इंटरव्यू में अनुपम खेर, विवेक अग्निहोत्री को बेहतरीन कलाकार बताया तो वहीं दूसरी तरफ फिल्म निर्माता अशोक पंडित को पानवाला कहकर हम बनारसियों की बहुत ज्यादा बेज्जती की है। हम बनारस वासी अपनी परंपरा और संस्कृति एवं सभ्यता के खिलाफ किसी के भी आरोप या गाली को कभी स्वीकार नहीं करेंगे। हम इसका पुरजोर विरोध करते हैं और करते रहेंगे। अनुराग कश्यप को चेतावनी देते हुए बनारस वाले मिश्राजी ने कहा कि बनारस का पान बनारस की शान है, इसका अपमान कतई बर्दाश्त नहीं होगा। बनारस की गलियां, बनारस के घाट, बनारस की साड़ी अपने आप में विश्व प्रसिद्ध है।

फिल्म इंडस्ट्रीज के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने फिल्म कैरियर में कई बार बनारस के पान को सराहा और बनारस के पान के साथ अभिनय भी किया है। डॉन फिल्म का वह गाना ‘खईके पान बनारस वाला, खुल जाए बंद अकल का ताला’, बड़े मियां छोटे मियां फिल्म का उनका अभिनय बनारसी पान के साथ उन्हीं का एक गाना और है कि पग घुंघरू बांध मीरा नाची थी, में भी बनारस के पान का जिक्र किया गया। मिश्राजी ने कहा कि बनारस का पान देवलोक से मनुष्य लोक तक अपनी उपस्थिति समृद्धि और संपन्नता देती रहती है। बनारस के पान पर टिप्पणी करने वाले अनुराग कश्यप को बनारस वाले मिश्राजी ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि अगली बार बनारस में जब भी अनुराग कश्यप आएंगे तो हम सभी बनारस वाले इस अपमान का बदला जरूर लेंगे। तब तक बनारस में उनकी फिल्म जो भी रिलीज होगी उसको हम सभी लोग बहिष्कार करने का ऐलान करते हैं। पुतला दहन में मुख्य रूप से बनारस वाले मिश्राजी, कुंवर यादव, धर्मेंद्र मिश्रा, रंजीत सेठ, रविंद्र वर्मा विक्की, पंकज सिंह, अमित सोनकर, आशीष केसरी के साथ सैकड़ों बनारसवासी उपस्थित थे।

Loading...
IGNITED MINDS