UP की बड़ी ख़बरें

(बांदा) सूखे कुएं से मिला किसान का शव, हत्या की आषंका

बांदा। जिले के बबेरू कोतवाली क्षेत्र के क्योटरा बढ़ौली गांव में पुलिस ने संदिग्ध परिस्थितियों में सूखे कुएं से एक अधेड़ किसान का शव बरामद किया है। पुलिस ने हत्या कर शव फेंके जाने की आशंका जताई है। जानकारी के अनुसार किसान मइयादीन निषाद (55) आवारा जानवरों से धान के फसल की रखवाली करने कल अपने खेत गया हुआ था। सुबह जब नहीं लौटा तो परिजनों ने उसकी खोजबीन की और खेत से एक सौ मीटर की दूरी पर एक सूखे कुएं में शव पड़ा मिला। खेत की मेड़ में बनी झोपड़ी में आधा खाना, कपड़े, मोबाइल फोन और अन्य सामान भी पड़ा था। प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है किसी ने हत्या कर शव कुएं में फेंक दिया हो। पुलिस ने शव को पोस्टमाॅर्टमके लिए भेजा है। उधर, किसान के परिजनों ने किसी से रंजिश या दुश्मनी होने से इंकार किया है। साथ ही शव के हालत को देखते हुए हत्या किए जाने का आरोप लगा रहे हैं।UP की बड़ी ख़बरेंUP की बड़ी ख़बरें

(लखनऊ) 21वीं सदी की राजनीति के महानायक थे अटल जी-राज्यपाल

– राजभवन में दी गई श्रद्धांजलि

लखनऊ । उप्र के राज्यपाल राम नाईक ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी से उनका 1962 से व्यक्तिगत एवं राजनैतिक संबंध रहा है। अटल जी अपने अद्भुत व्यक्तित्व एवं कृतित्व के कारण न केवल देश बल्कि विश्व की दृष्टि से भी 21वीं सदी की राजनीति के महानायक थे। अटल जी के व्यक्तित्व में हिमालय की ऊंचाई तथा विचारों एवं ज्ञान में समुद्र सी गहराई थी। उनको सरस्वती का वरदान प्राप्त था। वे अपनी उदारता एवं सबको साथ लेकर चलने की राजनीति के लिए जाने जाते थे। राज्यपाल ने कहा कि अटल जी का निधन युगान्त है।

शनिवार को राजभवन में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर राज्यपाल की पत्नी श्रीमती कुंदा नाईक, पुत्री डाॅ. निशिगंधा नाईक, प्रमुख सचिव हेमन्त राव, विशेष सचिव डाॅ. अशोक चन्द्र सहित राजभवन के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। श्रद्धांजलि सभा में दो मिनट का मौन भी रखा गया। इस मौके पर अटल जी को याद करते हुए राज्यपाल ने उनमें कठिन परिस्थितियों में भी निर्णय लेने की अद्भुत क्षमता थी। 1998 में विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव लाने पर अटल जी ने कहा था कि वे किसी अनुचित प्रकार से वोट नहीं जुटायेंगे, सरकार गिरने की स्थिति में पुनः जनता के समक्ष जायेंगे। 23 पार्टियों के सहयोग से बनी सरकार एक वोट से गिर गयी थी। राजनीति में सात्विकता का ऐसा उदाहरण उनके जैसा विराट व्यक्तित्व ही प्रस्तुत कर सकता था। परमाणु परीक्षण कर अटल जी ने भारत को विश्व में शक्तिशाली देश के रूप में स्थापित किया। अनेक विकसित देशों के कड़े आर्थिक प्रतिबंधों के बावजूद वे झुके नहीं। उन्होंने देशवासियों का आह्वान करते हुए लाल बहादुर शास्त्री जी के 1965 में दिये गये नारे ‘जय जवान-जय किसान’ में ‘जय विज्ञान’ जोड़कर देश को आगे बढ़ाने का कार्य किया।

श्री नाईक ने बताया कि जब वे पेट्रोलियम मंत्री थे तब उनके सुझाव पर कारगिल युद्ध के शहीदों के परिजन के पुनर्वास के लिए पेट्रोल पम्प और गैस एजेन्सी देने के निर्णय को अटल जी ने स्वीकार किया था। राज्यपाल ने कहा कि ऐसा प्रधानमंत्री, ऐसा जनता का नेता भारत में कभी नहीं हुआ। अटल जी ने जो अद्भुत कार्य किये हैं उसी रास्ते पर चलकर हम सभी को जनता की सेवा का दायित्व निभाने, गुणवत्ता से काम करने का संकल्प लेना चाहिए, यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। प्रमुख सचिव हेमन्त राव ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अटल जी सरल एवं सहज स्वभाव के थे। उन्होंने देश को कड़ी परीक्षा के बीच से निकाला था। अटल जी का व्यक्तित्व एवं राजनीतिक जीवन सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत है। श्रद्धांजलि सभा का संचालन करते हुए प्रभारी आयुर्वेद चिकित्सालय राजभवन डाॅ. शिव शंकर त्रिपाठी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन पर प्रकाश डाला।

(प्रतापगढ़) कार मैकेनिक को गोली मारी, गंभीर

प्रतापगढ़। जिले के थाना नगर कोतवाली अंतर्गत कटरा रोड पर आईटीआई के निकट शुक्रवार रात बाइक सवार बदमाशों ने एक कार मैकेनिक को गोली मार कर घायल कर दिया। जानकारी के अनुसार खुर्शीद (24) पेषे से मैकेनिक है और उसका गैरेज आईटीआई के निकट स्थित है। बीती रात वह गैरेज बन्द करके बाइक से अपने घर मीरा भवन वापस आ रहा था। इसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने ओवर टेक कर उसको गोली मार दी। गंभीर घायल अवस्था में जिला चिकित्सालय लाया गया। चिकित्सकों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए मेडिकल कॉलेज इलाहाबाद रेफर कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

(जालौन) उरई में धारदार हथियार से मां-बेटे की नृशंस हत्या

जालौन। जिले के उरई इलाके के बागी गांव में सरकारी अधिवक्ता की पत्नी और उसके बेटे की शुक्रवार रात धारदार हथियार से नृशंस हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी शनिवार की सुबह हुई। जानकारी के अनुसार बागी निवासी सरकारी अधिवक्ता भगवती प्रसाद तिवारी की पत्नी संतोषी (60) और बेटा कुलदीप (28) की शुक्रवार की रात में अज्ञात लोगों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी। घटना की जानकारी सुबह शनिवार को तब हुई जब अधिवक्ता के साले का लड़का जो छत पर सोया हुआ था नीचे उतर कर आया। उसने खून से सने शव देखे तब उसने शोर मचाया। शोर सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए। बताया गया है कि कल ही साले का लड़का आया था। वह छत पर सोया था जबकि मां बेटे कमरे में। हत्याकाण्ड की सूचना पर पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।

(लखनऊ) यूपी सरकार ने बाढ़ग्रस्त केरल को दी 15 करोड़ की सहायता

लखनऊ। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केरल राज्य में भीषण वर्षा एवं बाढ़ से हुई क्षति पर सहानुभूति व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश से राहत सामग्री एवं औषधियाँ केरल भेजने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने केरल राज्य में हुई क्षति से प्रभावित वहां की जनता को राहत पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से 15 करोड़ रूपये की धनराशि केरल राज्य के मुख्यमंत्री सहायता कोष में भेजने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने स्वयंसेवी संस्थाओं एवं समाजसेवियों से भी केरल राज्य में भीषण वर्षा एवं बाढ़ से हुई क्षति में सहयोग प्रदान करने का आह्वान किया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आपदा की इस घड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार एवं उत्तर प्रदेश की जनता केरलवासियों के साथ है। उन्होंने कहा है कि केरल राज्य की आपदा हेतु प्रभावित लोगों को राहत एवं सहायता करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है।

(लखनऊ) अटल के निधन के चलते सपा ने प्रदर्शन टाला

लखनऊ। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार के खिलाफ 20 अगस्त को प्रस्तावित राज्यव्यापी धरना-प्रदर्शन टाल दिया है। पार्टी प्रवक्ता राजेन्द्र चैधरी के मुताबिक प्रदर्शन की नयी तारीख की घोषणा जल्द ही की जायेगी। इससे पहले भारतीय जनता पार्टी ने सात दिनों के राजकीय शोक के मद्देनजर अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिये थे। सपा मुखिया अखिलेश यादव के निर्देश पर पार्टी ने प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों से बढ़ती रेप की घटनाओं और कानून-व्यवस्था को लेकर राज्य की सभी तहसीलों से लेकर जिला मुख्यालय तक धरना-प्रदर्शन करने का ऐलान किया था। इस दौरान राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन देने का भी निर्णय हुआ था। मगर अब पार्टी ने इस कार्यक्रम को टाल दिया है।

(लखनऊ) बिजली विभाग के सरकारी सामानों को बाजार में बेचने वालों के खिलाफ हो कठोर कार्रवाई-योगी 

लखनऊ। बिजली विभाग के कर्मियों और ठेकेदारों की मिलीभगत से सरकारी सामग्री और उपकरणों को बाजार में बेचे जाने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रवैया अपनाते हुए इस गड़बड़झाले में शामिल रहे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देष दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते जून माह में विद्युत विभाग के कार्मिकों और ठेकेदारों की मिलीभगत से विद्युतीकरण के लिए दी गयी सामग्री व उपकरणों के अनाधिकृत रूप से बाजार में बेचे जाने के प्रकरण के सम्बन्ध में शनिवार को यहां आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में अब तक की गयी कार्रवाई की समीक्षा की। इस मामले में उत्तर प्रदेश के साथ-साथ कई अन्य राज्यों के विद्युत विभाग के भण्डार गृहों से निर्गत की गयी सामग्री निजी व्यक्तियों के गोदामों से बरामद की गयी थी। 

मुख्यमंत्री ने इस मामले में चिन्ता व्यक्त करते हुए ऊर्जा तथा गृृह विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश दिये कि प्रकरण में सर्वोच्च प्राथमिकता पर तत्काल प्रभावी और कठोर कार्रवाई की जाय। सभी दोषी व्यक्तियों तथा विभागीय अधिकारियों, कर्मचारियों के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई के साथ-साथ आपराधिक मामला पाते ही उनके विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई अमल में लायी जाय ताकि ऐसा सशक्त संदेश जाय कि कोई भी व्यक्ति इस प्रकार की गतिविधि करने की हिम्मत न कर सके। बैठक में ऊर्जा विभाग के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि स्पेशल टास्क फोर्स से सूचना मिलते ही मध्यान्चल विद्युत वितरण निगम, लखनऊ एवं दक्षिणान्चल विद्युत वितरण निगम, आगरा द्वारा विशेष जांच दल गठित कर दिये गये थे, जिनकी आख्या के आधार पर तीन अवर अभियन्ताओं तथा दो सहायक भण्डार कीपरों को निलम्बित किया जा चुका है। प्रकरण में समयबद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए निदेशक (वित्त), उप्र पावर कारपोरेशन की अध्यक्षता में विशेष कार्यदल गठित कर दिया गया है, जिसमें सतर्कता विंग के पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी के साथ-साथ वित्त एवं तकनीकी क्षमता रखने वाले अन्य अधिकारियों को भी सम्मिलित किया गया है। 

बैठक में मुख्यमंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन द्वारा यह नीति भी कार्यान्वित की गयी है कि कार्यशाला, भंडार इकाईयों में एक निश्चित अवधि से अधिक समय तक तैनात, कार्यरत रहे अधिकारियों, कर्मचारियों को पुनः कार्यशाला तथा भंडार इकाई में तैनात नहीं किया जायेगा। सम्पूर्ण स्टोर प्रणाली को कम्प्यूट्रीकृत करने के लिए उप्र पावर कारपोरेशन द्वारा ईआरपी प्रणाली भी लागू किये जाने की कार्यवाही की जा रही है। मुख्यमंत्री द्वारा यह निर्देश दिये गये कि स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा जांच की कार्यवाही एक माह में पूर्ण कर ली जाय और इसके लिए पुलिस महानिदेशक आवश्यतानुसार एसआईटी गठित करें। उप्र पावर कारपोरेशन द्वारा एक माह के भीतर अपने सभी भण्डार गृृहों का विशेष आडिट सुनिश्चित कराया जाय। इसके साथ ही भण्डार गृहों से जारी की गयी सामग्री के प्रयोग की भी जांच-पड़ताल एक माह में सुनिश्चित की जाय।  

मुख्यमंत्री द्वारा इस बात पर बल दिया गया कि विद्युतीकरण के लिए क्रय की जा रही सामग्री विशेषकर खम्भे, ट्रांसफाॅर्मर तथा कंडक्टर आदि की गुणवत्ता जांचने की वर्तमान प्रणाली को और सुदृढ़ किया जाय। एक माह की अवधि में पावर कारपोरेशन (मुख्यालय) स्तर से छापे मारकर सामग्री के नमूने एकत्रित किये जाएं और उनकी जांच प्रतिष्ठित प्रयोगशालाओं से कराकर, गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर अनुबन्ध (काॅन्ट्रैक्ट) के अन्तर्गत कार्रवाई के साथ-साथ गम्भीर मामलों में आपराधिक प्रकरण भी दर्ज कराया जाय। बैठक में मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय, प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार, प्रमुख सचिव गृृह अरविन्द कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, स्पेशल टास्क फोर्स तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Loading...
IGNITED MINDS