अपनी बल्लेबाजी से तूफान मचाने वाले डीविलियर्स ने रिटायरमेंट का ऐलान कर चौंकाया

केपटाउन। अपनी बल्लेबाजी से दुनियाभर के गेंदबाजों के लिए खौफ का दूसरा नाम बने दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज खिलाड़ी एबी डीविलियर्स ने संन्यास लेने का ऐलान कर हर किसी को चौंका दिया है. डीविलियर्स ने सभी तरह के फॉर्मेट से रिटायरमेंट का ऐलान किया है. अपने इस फैसले से डीविलियर्स ने सभी चौंका दिया.

क्रिकेट छोड़ने का वक्त आ गया है

34 साल के डीविलियर्स ने रिटायरमेंट का ऐलान बुधवार को अपने ऐप पर किया. उन्होंने अपने फॉलोअर्स के लिए एक वीडियो भी जारी किया है. उन्होंने लिखा, ये एक मुश्किल फैसला था और मैंने बहुत लंबे समय तक इस पर विचार किया. लेकिन मुझे लगता है कि अब इसे छोड़ देने का वक्त आ गया है. उन्होंने लिखा, मेरी टीम के साथियों, क्रिकेट साउथ अफ्रीका और देश के अंदर और दुनियाभर में मेरा समर्थन करने वालों को बहुत बहुत धन्यवाद.

डिविलियर्स ने 14 साल के अपने करियर के दौरान 114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 टी 20 मैच खेले हैं. उन्होंने कहा कि 114 टेस्ट मैच, 228 वनडे और 78 टी20 मैच खेलने के बाद अब समय है कि दूसरों को मौका दिया जाए. मैंने अपना खेल पूरा कर लिया है और ईमानदारी से कहूं तो मैं थक गया हूं.  ये एक मुश्किल फैसला है मैंने लंबे समय तक सोचा और रिटायर होने का फैसला किया है हालांकि सामान्य क्रिकेट खेलता रहूंगा. भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में मिली जीत के बाद महसूस करता हूं कि इससे अलग होने का ये सही समय है.

मैं अपने कोच और क्रिकेट साउथ अफ्रीका के स्टाफ का आभारी हूं जिन्होंने इतने सालों तक मेरा समर्थन किया. सबसे बड़ा धन्यवाद मेरी टीम के उन साथियों का जो मेरे करियर के दौरान बने रहे. उनके समर्थन के बिना मैं इतने लंबी पारी नहीं खेल सकता था.  मेरा ओवरसीज क्रिकेट खेलने का कोई इरादा नहीं है. मैं टाइटंस और घरेलू क्रिकेट के लिए उपलब्ध रहूंगा. मैं फाफ डू प्लेसिस और प्रोटियाज का सबसे बड़ा समर्थक बना रहूंगा.

रिकॉर्डों के शहंशाह 

हाल फिलहाल डिविलियर्स आईपीएल में आरसीबी टीम के साथ खेल रहे थे. हालांकि उनकी टीम प्लेऑफ तक नहीं पहुंच सकी, लेकिन डिविलियर्स का अपना प्रदर्शन जबरदस्त रहा. इंटरनेशनल क्रिकेट में डिविलियर्स गेंदबाजों के लिए खौफ का दूसरा नाम बने हुए थे. एबी डिविलियर्स के नाम वनडे में सबसे तेज शतक और सबसे तेज अर्धशतक का रिकॉर्ड है. साल 2015 में उन्होंने घरेलू मैदान जोहानिसबर्ग में वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ सिर्फ 31 गेंदों पर शतक ठोका था. अपनी इसी पारी में उन्होंने मात्र 16 गेंदों पर 50 रन बनाकर वन-डे मैचों की सबसे तेज़ अर्द्धशतकीय पारी का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था. सबसे तेज 150 रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके ही नाम है. उन्होंने 2015 में सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर वेस्टइंडीज के खिलाफ सिर्फ 64 गेंदों पर 150 रन बनाए थे.

Loading...