महंगाई को लेकर केन्द्र पर बरसे सीएम गहलोत

जयपुर। राजस्थान में रविवार से कांग्रेस पार्टी की ओर से जन जागरण अभियान की शुरुआत की गई। इस दौरान पैदल मार्च निकालने के बाद प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि दी गई। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी पहुंचकर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं नेहरू के जीवन पर आधारित चित्र प्रदर्शनी का शुभारम्भ कर अवलोकन किया।

इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि एनडीए सरकार के गलत फैसलों और नीतियों की वजह से महंगाई की मार से जनता त्रस्त है। एनडीए सरकार की गलत नीतियों के कारण पेट्रोल डीजल के दाम बढ़े और आजादी के बाद पहली बार देश की जनता को महंगाई की मार सहनी पड़ रही है। मोदी सरकार ने 1 महीने में 15 से 20 रुपए डीजल और पेट्रोल पर बढ़ाएं और अब एक्साइज ड्यूटी के नाम पर 5 रुपये और 10 रुपये कम कर दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता इस बात को भूल जाती है कि कैसे 1 महीने में पेट्रोल और डीजल में इतनी बढ़ोतरी की गई और महंगाई घटाने के नाम पर सिंबॉलिक तौर पर उसने 5 रुपये और 10 रुपये कम किए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब केंद्र सरकार एक्साइज में कमी करती है तो राज्यों में अपने आप ही कीमत कम हो जाती है। राजस्थान सरकार को भी इससे अट्ठारह सौ करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है और इससे पहले जब 2 प्रतिशत वैट कम किया था तो दो हजार करोड़ का राजस्थान को नुकसान हुआ, लेकिन अगर जनता को फायदा मिलता है तो हमें यह नुकसान मंजूर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश से वादा करें कि वे पांच राज्यों के चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाएंगे, तभी जाकर महंगाई कम होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पेट्रोल-डीजल और गैस के दाम बढ़ने से मध्यमवर्ग हो, गरीब वर्ग हो या महिलाएं सब का जीना दूभर हो गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी की ओर से ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने जो जन जागरण अभियान का कार्यक्रम दिया है वह पूरे देश में गांव ढाणी और बूथ लेवल तक पहुंचेगा। इससे भारत सरकार पर दबाव भी बढ़ेगा।

Loading...