प्रधानमंत्री ने निर्यात पोर्टल किया लॉन्च, कहा- निर्यात का लक्ष्य तय करे उद्योग जगत

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के नए परिसर ‘वाणिज्य भवन’ और निर्यात पोर्टल का उद्घाटन किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में निर्यातकों और उद्योग जगत से अपने लिए दीर्घकालिक निर्यात का लक्ष्य तय करने लिए कहा। मोदी ने निर्यातकों से सरकार को जरूरी सुझाव देने को भी कहा, ताकि इन लक्ष्यों को हासिल किया जा सके। इसके लिए सरकार ने 32 हजार से ज्यादा अनावश्यक अनुपालनों को खत्म कर दिया है।

निर्यात पोर्टल लॉन्च करने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले साल ऐतिहासिक वैश्विक व्यवधान के बावजूद भारत ने 670 बिलियन डॉलर यानी 50 लाख करोड़ रुपये का कुल निर्यात किया। देश ने पिछले साल तय किया था कि हर चुनौती के बावजूद 400 बिलियन डॉलर यानी 30 लाख करोड़ रुपये के व्यापार निर्यात का लक्ष्य पार करना है। इसको पार करते हुए हमने 418 बिलियन डॉलर यानी 31 लाख करोड़ रुपये के निर्यात का नया रिकॉर्ड भी बनाया।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार वोकल फॉर लोकल अभियान, ‘एक जिला, एक उत्पाद’ योजना के जरिए जो स्थानीय उत्पादों पर बल दे रही है, उसने भी निर्यात बढ़ाने में मदद की है। अब दुनिया के नए-नए देशों में हमारे अनेक प्रॉडक्ट्स पहली बार निर्यात किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वाणिज्य भवन के शिलान्यास के वक्त हमने जेम पोर्टल पर करीब 9 हज़ार करोड़ रुपये के ऑर्डर की चर्चा की थी। आज इस पोर्टल पर हमारे 45 लाख छोटे उद्यमी रजिस्टर हैं और जेम पोर्टल पर सवा दो लाख से अधिक का ऑर्डर दिया जा चुका है।

उन्होंने आगे कहा कि नए भारत में नागरिक केंद्रित शासन के जिस सफर पर देश विगत 8 वर्षों से चल रहा है, उस दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। देश को नया और आधुनिक वाणिज्य भवन के साथ ही निर्यात पोर्टल की भेंट मिल रही है। इसे भारत के विदेश व्यापार से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए हितधारकों के लिए वन स्टॉप प्लेटफॉर्म के रूप में विकसित किया गया है। मोदी ने कहा कि सरकार का हर मंत्रालय, हर विभाग, पूरी सरकार अप्रोच के साथ निर्यात को बढ़ाने को प्राथमिकता दे रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) मंत्रालय हो या फिर विदेश मंत्रालय, कृषि हो या वाणिज्य, सभी एक साझा लक्ष्य के लिए, साझा प्रयास कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि विगत आठ वर्षों में भारत भी अपना निर्यात लगातार बढ़ा रहा है, निर्यात से जुड़े लक्ष्यों को प्राप्त कर रहा है। निर्यात बढ़ाने के लिए बेहतर नीतियां हो, प्रोसेस को आसान करना हो, प्रोडक्ट्स को नए बाजार में ले जाना हो, इन सबने, इसमें बहुत मदद की है। इस अवसर पर केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल भी मौजूद थीं।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री ने एक नए पोर्टल को लॉन्च किया है। पोर्टल का पूरा नाम निर्यात ‘एनआईआरवाईएटी’ (व्यापार के वार्षिक विश्लेषण के लिए राष्ट्रीय आयात-निर्यात रिकॉर्ड) है। इस पोर्टल के जरिए हितधारकों को एक जगह पर भारत के विदेश व्यापार से संबंधित सभी जरूरी जानकारी मिल सकेगी। निर्यात पोर्टल सभी हितधारकों को महत्वपूर्ण आंकड़े बिना किसी विलंब के मुहैया कराएगा। इंडिया गेट के पास नव-निर्मित वाणिज्य भवन से इसका संचालन होगा, जिसको एक स्मार्ट इमारत के रूप में डिजाइन किया गया है। इस भवन में ऊर्जा की बचत पर खासतौर से ध्यान दिया गया है, जो टिकाऊ वास्तुकला के सिद्धांत पर आधारित है। यह एकीकृत और आधुनिक कार्यालय परिसर के तौर पर काम करेगा, जिसका उपयोग मंत्रालय के तहत दो विभागों यानी वाणिज्य विभाग और उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग करेंगे।

Loading...