Author Archives: PMC Web_Wing

युवक ने सरे बाजार छात्रा को मारा चाकू, लोग वीडियो बनाते रहे; इलाज के अभाव में हो गई मौत

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक सिरफिरे आशिक ने छात्रा को सरेबाजार चाकू मार दिया, लेकिन वहां मौजूद भीड़ बुरी तरह घायल छात्रा को इलाज के लिए ले जाने के बजाय वीडियो बनाती रही। कुछ देर बाद पहुंची पुलिस ने छात्रा को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। पूरा मामला कासना कोतवाली क्षेत्र का है। शुक्रवार शाम को छेड़छाड़ का विरोध करने पर एक सिरफिरे आशिक ने 20 वर्षीय छात्रा पर चाकू से हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया। 25 वर्षीय आरोपी ने छात्रा पर कई वार किए। लड़की चाकू लगते ही चीखने लगी और मदद की गुहार लगाई, लेकिन आरोपित के हाथ में चाकू देखकर किसी ने उसे बचाने की हिम्मत न दिखाई। लोगों की भीड़ देख सिरफिरे युवक ने खुद को भी मारा चाकू सरेबाजार छात्रा को चाकू मारने की घटना के बाद भीड़ से अपने को लोगों से घिरा देखकर आरोपित ने खुद को भी चाकू मार लिया। हादसे के बाद किसी ने भी छात्रा को अस्पताल नहीं पहुंचाने की जहमत उठाई वह काफी देर तक घटनास्थल पर दर्द से तड़पती रही। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया। इलाज में अस्पताल में छात्रा ने दम तोड़ दिया। छात्रा की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। छात्रा ने दिखाई हिम्मत तो छेड़छाड़ करने वाला शिक्षक पहुंचा जेल यह भी पढ़ें छात्रा तड़पती रही और लोग वीडियो बनाते रहे दिल्ली से सटे गुरुग्राम में विदेशी युवती से 6 जून की रात में सामूहिक दुष्कर्म यह भी पढ़ें घटना के बाद करीब बीस मिनट तक लड़की घटनास्थल पर दर्द से तड़पती रही। घायल युवक भी वहां पड़ा रहा। मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। लोग वीडियो बनाते रहे। एक-दूसरे से एंबुलेंस लाने की बातें करते रहे, लेकिन किसी ने उसकी मदद करना मुनासिब नहीं समझा। पुलिस के आने के बाद भी लड़की काफी देर तक वहीं पड़ी तड़पती रही। पुलिसकर्मी एंबुलेंस आने का इंतजार करते रहे। वहीं मौके पर जमा भीड़ वीडियो बनाने में व्यस्त रही। छात्रा बीए की पढ़ाई करने के साथ जूस की दुकान में करती थी काम बाल यौन शोषण अब बसः घर में अपना ही लूट रहा था 9वीं की छात्रा की अस्मत, यूं सच आया सामने यह भी पढ़ें मूलरूप से दादरी की रहने वाली लड़की जगतफार्म के एके प्लाजा की एक दुकान में काम करती थी। वह दादरी के मिहिर भोज कॉलेज से बीए की पढ़ाई भी कर रही थी। जानकारी के अनुसार दादरी का ही रहने वाला सिरफिरा आशिक कुलदीप लंबे समय से उसका पीछा कर रहा था। नहीं पता चल पाया सिरफिरे युवक के हमले का मकसद बच्ची से दुष्कर्म में युवक को 14 साल कैद की सजा यह भी पढ़ें शुक्रवार को दोपहर करीब बारह बजे लड़का बाजार में चाकू लेकर पहुंच गया। बाजार में एक जगह सीढ़ी पर बैठकर वह लड़की का इंतजार करने लगा। लड़की के आने पर कुछ देर तक पहले उसने बात की। बाद में चाकू निकालकर ताबड़तोड़ वार कर दिए। सामने आए सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही पुलिस पुलिस ने मौके से चाकू बरामद कर लिया। बाजार में घटनास्थल के पास सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। पुलिस सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रही है। परिजन की तहरीर पर पुलिस ने हमलावर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पहले भी की थी पुलिस से शिकायत छात्रा की बहन ने बताया दादरी से आते समय आरोपी लड़का अक्सर पीछा करता था। छेड़छाड़ भी करता था। तंग आकर मामले की शिकायत पुलिस से की गई थी। पुलिस ने आरोपी पर कार्रवाई की बात कही थी। लेकिन कुछ नहीं किया। बाद में भी वह लड़का पीछा किया करता था। आरोपित के परिजन से भी की थी शिकायत मामले की जानकारी लड़की के परिजन को भी हुई थी। लड़की के परिवार वालों ने लड़के के घर जाकर शिकायत की थी। लड़के के परिवार वालों ने उसे समझाने का आश्वासन दिया था। बाद में कुछ दिनों तक लड़के ने पीछा करना छोड़ दिया था। बाद में वह दोबारा पीछा करने लगा था। चश्मे वाली लड़की के नाम से जानते थे दुकानदार घायल लड़की अक्सर आंख पर चश्मा लगाती थी। आस-पास के दुकानदार लड़की को चश्मे वाली लड़की के नाम से जानते थे। लेकिन घटना के बाद मदद करने के लिए आगे नहीं आए। शादी के लिए अरोपित जबरन बना रहा था दबाव घटना के बाद लड़की की मां बदहवास अवस्था में अस्पताल पहुंची। रो-रो कर उसका बुरा हाल हो गया। कहा लड़कियों का कहीं आना-जाना दुश्वार हो गया है। सुरक्षा के नाम पर पुलिस-प्रशासन लापरवाह बना हुआ है। उसने बताया लड़का दूसरी बिरादरी का है पर जबरदस्ती शादी के लिए दबाव बना रहा था।

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक सिरफिरे आशिक ने छात्रा को सरेबाजार चाकू मार दिया, लेकिन वहां मौजूद भीड़ बुरी तरह घायल छात्रा को इलाज के लिए ले ...

Read More »

बीच सड़क सेना के वाहन में अचानक हुआ विस्फोट, जानिए वजह

पिथौरागढ़ से कनालीछीना की ओर जा रहे सेना के एक वाहन में अचानक विस्फोट हो गया। जिससे मौके पर अफरा-तफरी मच गर्इ। बताया जा रहा है कि तेल का बैरल फटने से वाहन में आग लगी थी। इससे करीब एक एक घंटे यातायात ठप रहा। दरअसल, शनिवार सुबह सेना का एक वाहन कर्इ बैरल में तेल लेकर टनकपुर-तवाघाट हाईवे से कनालीछीना की तरफ जा रहा था। नैनीपातल से एक किलोमीटर दूर बैरल के आपस में टकराने से गैस बनी और विस्फोट हो गया। देखते ही देखते वाहन में आग लग गर्इ। वाहन में विस्फोट होने और आग लगने से मार्ग में गुजर रहे वाहन रुक गए। सूचना मिलते ही जिला मुख्यालय से फायर ब्रिगेड और जाजरदेवल थाने की पुलिस पहुंची। वाहन में लगी आग बुझा ली गई है। वाहन में सवार चालक विस्फोट होते ही बाहर निकल गया था। किसी तरह की जनहानि नहीं हुर्इ है। साथ ही मार्ग पर यातायात भी सुचारू हो गया है।

पिथौरागढ़ से कनालीछीना की ओर जा रहे सेना के एक वाहन में अचानक विस्फोट हो गया। जिससे मौके पर अफरा-तफरी मच गर्इ। बताया जा रहा है कि  तेल का बैरल फटने से वाहन में आग लगी थी। इससे करीब एक ...

Read More »

रविवार को स्वाति नक्षत्र संग सिद्धयोग, निर्जला एकादशी का संयोग

सनातन धर्म में ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी को निर्जला एकादशी या भीमसेनी एकादशी के रूप में मनाया जाता है। इस बार यह व्रत पर्व 24 जून रविवार को पड़ रहा है। एकादशी तिथि शनिवार को सुबह 5.50 बजे लग गई जो 24 जून को सुबह 5.31 बजे तक रहेगी। इसमें स्वाती नक्षत्र व सिद्धयोग का संयोग इसे खास बना रहा है। कई एकादशियों के पुण्यफल वाले निर्जला व्रत करने से आयु -आरोग्य के साथ अंतत: स्वर्गादि की प्राप्ति होती है। ख्यात ज्योतिषाचार्य पं. ऋषि द्विवेदी के अनुसार यदि कोई अधिक मास सहित एक वर्ष की 25 एकादशी न कर सके तो सिर्फ निर्जला एकादशी व्रत करने से संपूर्ण फल प्राप्त किया जा सकता है। शास्त्रों में कहा गया है कि अग्र जन्म में पुण्य संचय करने के लिए इस जन्म में जो लोग एकादशी व्रत करते हैं उन्हें जन्म-जन्मांतर में धर्म-अर्थ- काम-मोक्ष स्वयं प्राप्त हो जाता है। निर्जला व्रत करने वाला व्रती अपवित्र अवस्था के आचमन के सिवा बिंदु मात्र भी जल ग्रहण न करें। यदि किसी प्रकार से जल उपयोग में ले लिया जाए तो व्रत भंग हो जाता है। दृढ़तापूर्वक नियम पालन के साथ निर्जल उपवास कर द्वादशी को स्नान और सामथ्र्य अनुसार स्वर्ण, जलयुक्त कलश, चीनी आदि का दान करना चाहिए। ब्राह्मण को भोजन कराकर स्वयं भोजन से संपूर्ण तीर्थों में स्नान समान फल मिलता है। अरे! यह शिवाजी तो पृथ्वीराज चौहान से भी अागे है, आंखों में पट्टी बांधकर लगाते हैं निशाना यह भी पढ़ें भीमसेन से बना भीमसेनी महाभारत काल में बहुभोजीय भीमसेन ने व्यास जी के मुख से प्रत्येक एकादशी को निराहार रहने का नियम सुनकर विनम्र भाव से निवेदन किया कि महाराज मुझसे कोई व्रत नहीं किया जाता है। दिनभर बड़ी तीव्र क्षुधा बनी रहती है। अत: आप कोई ऐसा उपाय बता दीजिए जिसके प्रभाव से स्वत: सद्गति हो जाए। उड़नखटोले से ससुराल गई एक दुल्हन; दूसरी घोड़ी पर होकर सवार, पहुंचेगी दुल्हे राजा के द्वार यह भी पढ़ें तब व्यास जी ने कहा कि तुमसे वर्षभर की संपूर्ण एकादशी नहीं हो सकती है तो केवल एक निर्जला कर लो। इससे वर्षभर की एकादशी के समान फल प्राप्त हो जाएगा। इस पर भीमसेन ने ऐसा ही किया और इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी के नाम से जाना जाने लगा।

सनातन धर्म में ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी को निर्जला एकादशी या भीमसेनी एकादशी के रूप में मनाया जाता है। इस बार यह व्रत पर्व 24 जून रविवार को पड़ रहा है। एकादशी तिथि शनिवार को सुबह 5.50 बजे लग गई जो ...

Read More »

हिंदू-मुस्लिम कपल के पासपोर्ट विवाद में कूदी BJP, कहा- अधिकारी दोषी मिले तो कार्रवाई हो

लखनऊ में एक दंपति को अलग-अलग धर्मों का होने के चलते पासपोर्ट न देने के मामले में नए तथ्य सामने आ रहे हैं. पहले ये कहा गया कि हिंदू-मुस्लिम कपल होने के चलते मोहम्मद अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ को पासपोर्ट अधिकारी ने धर्म के नाम पर अपमानित किया. हिंदू-मुस्लिम होने के चलते पासपोर्ट रिन्यूअल का उनका आवेदन खारिज कर दिया और पासपोर्ट को होल्ड पर डाल दिया. लेकिन अब जो तथ्य सामने आए हैं, उसके मुताबिक, पासपोर्ट अधिकारी ने तीन विसंगतियों के चलते आपत्ति जाहिर की थी. इधर बीजेपी भी इस विवाद में कूद गई है. बीजेपी ने कहा कि अगर पासपोर्ट अधिकारी दोषी है तो उस पर कार्रवाई हो. और अब ऐसी खबरें भी आ रही हैं कि तन्वी सेठ के नाम और स्थायी पते को लेकर उठे विवाद के बाद एक बार फिर से पूरे मामले की जांच की जा सकती है. पासपोर्ट विवाद के तूल पकड़ने के बाद भले ही आनन-फानन में तन्वी सेठ का पासपोर्ट उन्हें दे दिया गया हो, लेकिन एक बार फिर पासपोर्ट का वेरिफिकेशन किया जा सकता है. खबर है कि अगर पासपोर्ट वेरिफिकेशन में गड़बड़ी पाई गई तो तन्वी सेठ का पासपोर्ट भी जब्त हो सकता है. हालांकि बाद में इस मामले ने इतना तूल पकड़ा कि न सिर्फ हिंदू-मुस्लिम कपल को पासपोर्ट जारी कर दिया गया, बल्कि उनके साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने वाले पासपोर्ट अधिकारी का भी ट्रांसफर कर दिया गया. बाद में आरोपी पासपोर्ट अधिकारी ने भी कहा था, 'हमें धर्म से कोई मतलब नहीं, हमें तो पासपोर्ट के मैनुअल के मुताबिक फैसला लेना होता है, जिसमें आवेदक द्वारा दी गई जानकारी को कॉलम वाइज पुष्टि करनी होती है. उस फैसले के तहत निवेदक को अपना नाम स्पष्ट करना चाहिए था क्योंकि उस पर उनका पुराना नाम था.' दरअसल पासपोर्ट अधिकारी ने इन तीन विसंगतियों को लेकर आपत्ति जताई थी-: नोएडा में नौकरी, लखनऊ से वर्क फ्रॉम होम तन्वी सेठ के पते को लेकर पासपोर्ट ने आपत्ति जताई थी, क्योंकि तन्वी सेठ नोएडा की एक कंपनी में 12 साल से काम कर रही हैं, जबकि लखनऊ का निवासी दिखाने के लिए उन्होंने वर्क फ्रॉम होम की जानकारी दी थी. आरोपी पासपोर्ट अधिकारी ने इसी बात पर पहली आपत्ति जताई थी कि जब तन्वी नोएडा की रहने वाली हैं तो उन्हें गाजियाबाद से पासपोर्ट के लिए अप्लाई करना चाहिए. फिर नोएडा में नौकरी करते हुए कोई 12 साल तक भला कैसे लखनऊ से वर्क फ्रॉम होम के जरिए काम कर सकता है. नाम बदलने की जानकारी छिपाई गई पासपोर्ट अधिकारी ने जो दूसरी आपत्ति जताई, वह तन्वी सेठ के नाम बदलने को लेकर था. कपल ने एप्लिकेशन फॉर्म में इस बात का जिक्र ही नहीं किया कि तन्वी ने अपना नाम बदला है. पासपोर्ट अधिकारी के मुताबिक, एप्लिकेशन फॉर्म में एक कॉलम होता है, जिसमें नाम बदलने के बारे में सूचित करना होता है. लेकिन तन्वी सेठ ने इस कॉलम को छोड़ दिया. नया नाम न जोड़ने पर तीसरी आपत्ति पासपोर्ट अधिकारी ने बताया कि तन्वी सेठ ने पासपोर्ट आवेदन के साथ अपना जो निकाहनामा दिया था उसमें उनका बदला हुआ नाम सादिया हसन लिखा हुआ था. हालांकि वह सादिया की जगह तन्वी सेठ के नाम से ही पासपोर्ट इश्यू करवाना चाहती थीं. तन्वी सेठ अपने पुराने नाम से ही पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था और जब पासपोर्ट अधिकारी ने उनसे अपना नया नाम भी पासपोर्ट में जुड़वाने के लिए कहा तो उन्होंने इनकार कर दिया. दिए गए दस्तावेज मानकों पर पूरे नहीं जानकारी के मुताबिक, कपल ने जो दस्तावेज पासपोर्ट रिन्यूअल के लिए दिए, वे मानकों पर खरे नहीं उतर रहे थे. आवेदन में तन्वी ने अपनी हाईस्कूल की मार्कशीट और आधार कार्ड लगाया था. दोनों ही दस्तावेजों पर उनका नाम तन्वी सेठ दर्ज है. इसके अलावा उन्होंने एक प्राइवेट बैंक अकाउंट के पासबुक की फोटोकॉपी भी लगाई है. यह बैंक अकाउंट तन्वी सेठ और मोहम्मद अनस सिद्दीकी के संयुक्त नाम से है. हालांकि नियम है कि सिर्फ राष्ट्रीयकृत बैंक का पासबुक ही मान्य होता है. वहीं उन्होंने जो निकाहनामा लगाया है, उसमें तन्वी का बदला हुआ नाम सादिया दर्ज है. सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में तन्वी-अनस को जेल भेजा जाए: BJP पासपोर्ट इश्यू करने और पासपोर्ट अधिकारी द्वारा बदसलूकी के इस मामले के हिंदू-मुस्लिम से जुड़ा होने के चलते अब BJP भी इस विवाद में कूद गई है. बीजेपी प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने मामले की गहन जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि अगर पासपोर्ट अधिकारी दोषी है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए, लेकिन अगर अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ झूठ बोल रहे हैं तो इनके खिलाफ भी कड़ी कानूनी कार्रवाई हो और सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए.

लखनऊ में एक दंपति को अलग-अलग धर्मों का होने के चलते पासपोर्ट न देने के मामले में नए तथ्य सामने आ रहे हैं. पहले ये कहा गया कि हिंदू-मुस्लिम कपल होने के चलते मोहम्मद अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ को ...

Read More »

ग्रेटर नोएडा में खून से लथपथ लड़की तड़पते हुए दम तोड़ गई और लोग बनाते रहे VIDEO

वो तड़पती रही, लोग वीडियो बनाते रहे. उसकी हर एक सांस मदद की मोहताज थी, लेकिन लोग सिर्फ उसे लहूलुहान देखते रहे. यह दहला देने वाला मंजर ग्रेटर नोएडा के एक व्यस्त शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का है, जहां एक सनकी आशिक ने एक लड़की को चाकुओं से गोद डाला और खुद को भी चाकू मार लिया. इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें खून में लथपथ लड़की फर्श पर पड़ी अंतिम सांसे गिन रही है और उसे घेरकर खड़ी भीड़ सिर्फ तमाशा देख रही है. वीडियो में दिख रहा है कि लड़की की हालत इतनी खराब है कि फर्श पर पड़े-पड़े वह दर्द के चलते ठीक से छटपटा भी नहीं पा रही. हल्के-हल्के करवट लेती है, लेकिन किसी को मदद के लिए पुकार तक नहीं पाती. साफ दिख रहा है कि उसे मदद की जरूरत है, लेकिन कोई वीडियो बना रहा है तो कोई सिर्फ खड़े-खड़े देख रहा है. वीडियो में यूपी पुलिस का एक सिपाही भी नजर आता है, लेकिन वह पीड़िता की मदद करने की बजाय भीड़ को संभाल रहा है फिर किसी से फोन पर बात करने लगता है. जानकारी के मुताबिक, मौके पर मौजूद कुछ लोग उस पुलिस वाले से आटो बुलवाकर लड़की और लड़के को ले जाने की बात करते हैं, लेकिन न पुलिस वाला एक्शन में आता है न वहां मौजूद तमाशा देख रहे लोग. ANI UP ✔ @ANINewsUP #UPDATE: Woman, who was stabbed multiple times by man who used to stalk her, has succumbed to her injuries. The incident took place in #GreaterNoida's Kasna yesterday. ANI UP ✔ @ANINewsUP #GreaterNoida: Man stabbed a woman following an altercation with her in Kasna area yesterday, later stabbed himself also. Woman's family says he used to stalk her. Police says both are admitted for treatment & woman is critical. View image on TwitterView image on Twitter 12:53 PM - Jun 23, 2018 37 See ANI UP's other Tweets Twitter Ads info and privacy दो मिनट 36 सेकेंड तक एक शख्स यह वीडियो बना रहा है, लेकिन पुलिस मौके पर पहुंचकर भी पीड़िता की मदद के लिए एक्शन नहीं ले रही. यूपी पुलिस मौके पर पहुंच कर भी लड़की को अस्पताल ले जाने की जहमत नहीं उठाती. शायद वीडियो के बाद भी काफी देर तक ऐसा हुआ हो, सवाल ये कि एनसीआर में किसी को खून से यूं सना हुआ देखकर जिसकी हर सांस बस मदद के इंतजार में हो कोई हाथ आगे क्यों नहीं बढ़ाता. ये है पूरा मामला वारदात ग्रेटर नोएडा के कासना थाना क्षेत्र की है. जहां फार्म मार्किट की एक दुकान में युवती खरीदारी करने पहुंची थी. तभी अचानक कुलदीप नामक युवक दुकान में घुस आया और युवती पर चाकू से एक बाद एक कई वार कर डाले. लड़की पर हमला करने के बाद उस युवक ने खुद को भी चाकू से वार कर घायल कर लिया. पीड़ित परिवार के मुताबिक आरोपी युवक कुलदीप काफी समय से लड़की को परेशान कर रहा था. इस संबंध में लड़की के घरवालों ने पुलिस को शिकायत भी की थी. लेकिन पुलिस ने लापरवाही दिखाते हुए उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की. इस बात से युवक का हौसला इतना बढ़ गया कि उसने लड़की पर जानलेवा हमला कर दिया.

वो तड़पती रही, लोग वीडियो बनाते रहे. उसकी हर एक सांस मदद की मोहताज थी, लेकिन लोग सिर्फ उसे लहूलुहान देखते रहे. यह दहला देने वाला मंजर ग्रेटर नोएडा के एक व्यस्त शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का है, जहां एक सनकी आशिक ...

Read More »

दस फीसदी से ज्यादा विकास दर की सोचें : पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले देशों की सूची में शामिल करने के लिए कम से कम दहाई अंकों की जीडीपी विकास दर का लक्ष्य रखने का आहवान किया है। उन्होंने यह भी कहा कि वैश्विक कारोबार (ग्लोबल ट्रेड) में देश की हिस्सेदारी दोगुना कर 3.4 फीसदी पर ले जाने के भी उपाय करने होंगे। वाणिज्य मंत्रालय के लिए नए वाणिज्य भवन की आधारशिला रखते हुए प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि पिछले चार वर्षों में उनकी सरकार ने कारोबार करने में सहूलियत यानी "ईज ऑफ डूइंग बिजनेस" के मोर्चे पर कई अहम कदम उठाए हैं। इसके साथ-साथ सरकार ने महंगाई, चालू खाता घाटा और राजकोषीय घाटा जैसे वृहत अर्थव्यवस्था के संकेतकों को भी सीमा के अंदर रखने में कामयाबी पाई है। मोदी ने कहा- "बीते वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) विकास दर 7.7 फीसदी रही। लेकिन अब वह वक्त आ गया है, जब हमें विकास दर के मामले में सात-आठ फीसदी से आगे सोचना और दोहरे अंकों की विकास दर का एजेंडा तैयार करना होगा।" उन्होंने कहा कि दुनिया भारत की ओर देख रही और इस बात का इंतजार कर रही है कि वह कब तक 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले देशों की सूची में शामिल होगा। निर्यात बढ़ाने की जरूरत पर बल देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस प्रयास में राज्यों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वाणिज्य विभाग को यह संकल्प लेना चाहिए कि कुल वैश्विक निर्यात में भारत की हिस्सेदारी मौजूदा 1.6 फीसदी से बढ़ाकर कम से कम 3.4 फीसदी किया जाए। प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्पादों के अधिक से अधिक घरेलू निर्माण पर भी जोर दिया जाना चाहिए ताकि आयात पर निर्भरता न्यूनतम स्तर पर आ सके। इस संदर्भ में उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग का उदाहरण दिया। अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश अब "अटकाना, लटकाना और भटकाना" की कार्य संस्कृति से निकल चुका है। दर्जनों अप्रत्यक्ष करों के बदले पिछले साल पहली जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू हो चुका है। इससे कारोबार करना आसान हुआ है और कर आधार भी बढ़ा है। प्रधानमंत्री का कहना था कि जीएसटी के तहत 54 लाख नए करदाताओं ने पंजीकरण कराया है, जिससे अप्रत्यक्ष कर भुगतान करने वालों की संख्या एक करोड़ के ऊपर चली गई है। वहीं, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) और विदेशी मुद्रा भंडार भी इस वक्त अपने-अपने चरम पर हैं। प्रधानमंत्री ने नए वाणिज्य भवन का निर्माण कार्य तय समय में पूरा हो जाने का भरोसा जताया। उन्होंने कहा कि "नए भारत" की कार्यशैली में ऐसे कई पुराने अंदाज पीछे छोड़ दिए गए हैं, जिनकी वजह से देश की राजधानी तक में परियोजनाएं बेवजह लटकती रहती थीं। इस परिप्रेक्ष्य में प्रधानमंत्री ने डॉ. आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर, डॉ. आंबेडकर नेशनल मेमोरियल, प्रवासी भारतीय केंद्र और केंद्रीय सूचना आयोग के नए भवनों का हवाला दिया। करोड़ रुपए में बनेगा वाणिज्य भवन केंद्रीय निर्माण उपक्रम एनबीसीसी (इंडिया) लिमिटेड को निर्माणाधीन वाणिज्य भवन के निर्माण संबंधी गतिविधियों के क्रियान्वयन का जिम्मा सौंपा गया है। दो बेसमेंट और भूतल सहित पांच मंजिला भवन के निर्माण पर 226.83 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसका कुल क्षेत्रफल 4.3 एकड़ होगा, जिसके 39,500 वर्गमीटर बिल्ट-अप एरिया के 22 फीसदी हिस्से पर भवन निर्माण किया जाएगा। वहां 444 कारों के लिए पार्किंग सुविधा होगी। इसका निर्माण कार्य अगले वर्ष सितंबर तक पूरा हो जाने का लक्ष्य रखा गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले देशों की सूची में शामिल करने के लिए कम से कम दहाई अंकों की जीडीपी विकास दर का लक्ष्य रखने का आहवान किया है। उन्होंने यह भी कहा ...

Read More »

ओपेक रोजना 10 लाख बैरल बढ़ाएगा कच्चे तेल का उत्पादन, सस्ते होंगे पेट्रोल और डीजल

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन ओपेक उत्पादन बढ़ाएगा। माना जा रहा है कि शुक्रवार को हुई बैठक में सऊदी अरब कट्टर प्रतिद्वंद्वी ईरान को इस मामले में सहयोग के लिए राजी कर लिया है। बैठक से एक दिन पहले तक ईरान इसके लिए तैयार नहीं था। सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फलीह ने कहा कि उत्पादकों ने भारी बहुमत से रोजाना 10 लाख बैरल उत्पादन बढ़ाने की सिफाशि की है। उन्होंने कहा, "हम आपूर्ति की किल्लत रोकना चाहते हैं। हम वैसे हालात नहीं चाहते, जैसा 2007-08 में देखा गया था।"ओपेक देशों द्वारा कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाए जाने का सबसे बड़ा फायदा भारत जैसे बड़े तेल आयातक देशों को होगा क्योंकि आपूर्ति बढ़ने के कारण कीमतें घटेंगी। दरअसल अमेरिका, चीन और भारत ने ही ओपेक से उत्पादन बढ़ाने की अपील की थी, जिसके बाद उन्होंने इस मसले पर सहमति बनाने के लिए बैठक की। भारत, अमेरिका और चीन चाहते हैं कि कच्चे तेल के दाम कम हों और बाजार में आपूर्ति की दिक्कत न हो क्योंकि इसके कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंच सकता है। दिक्कत यह है कि ओपेक को उत्पादन बढ़ाने को लेकर किसी फैसले तक पहुंचने के लिए सभी सदस्य देशों की रजामंदी जरूरी है। अब तक ईरान इसके लिए तैयार नहीं था, लेकिन शुक्रवार को उसकी तरफ से नरम रुख के संकेत मिले। ओपेक की बैठक शुरू होने से पहले फलीह से मुलाकात के बाद ईरान के पेट्रोलियम मंत्री बिजान नामदार जंगानेह ने कहा, "हम कुछ कर रहे हैं।"ईरान की अहमियत इसलिएईरान ओपेक का तीसरा सबसे बड़ा तेल उत्पादक देश है। उत्पादन बढ़ाने की दिशा में आगे बढ़ने के मामले में यह अब तक सबसे बड़ा रोड़ा रहा है। चूंकि ईरान अमेरिका का कट्टर विरोधी रहा है, लिहाजा उसने ओपेक के अन्य देशों से अपील की थी कि उन्हें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरफ से उत्पादन बढ़ाने के लिए बनाए जा रहे दबाव को खारिज कर देना चाहिए। ट्रंप से तल्खी की वजह असल में इसी साल मई में ट्रंप ने ईरान पर नए प्रतिबंध लगा दिए थे। तेल बाजार पर नजर रखने वालों को संदेह था कि अमेरिका की तरफ से उठाए गए कदम के नतीजे में ईरान 2018 के अंत तक कच्चे तेल के उत्पादन में करीब एक तिहाई कटौती करेगा। ईरान की तकलीफ यह है कि उसे लगता है कि उत्पादन बढ़ाने से उसे बहुत कम फायदा होगा, जबकि सबसे बड़े निर्यातक सऊदी अरब सबसे ज्यादा फायदे में रहेगा। एक समय लगा कि नहीं बन पाएगी बात इससे पहले ईरान के पेट्रोलियम मंत्री ओपेक की बैठक छोड़कर बाहर चले गए थे क्योंकि सऊदी अरब कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने पर जोर दे रहा था। इस वजह से ईरान के साथ उसकी तनातनी बढ़ गई थी। ओपेक बैठक की पूर्व संध्या पर मंत्रियों के समूह ने तेल उत्पादन बढ़ाने को लेकर चर्चा की थी। इसके बाद ईरान के पेट्रोलियम मंत्री बिजान नामदार जंगानेह ने संवाददाताओं से कहा, "मुझे नहीं लगता है कि हम किसी समझौते तक पहुंच सकते हैं।"इस वार्ता को ओपेक बैठक की तैयारी के रूप में देखा जा रहा था। 14 सदस्यों वाले इस संगठन के ज्यादातर देश कच्चे तेल की आपूर्ति बढ़ाना चाहते हैं। जनवरी, 2017 से ही ओपेक देशों में उत्पादन कटौती जारी है, लेकिन अब सऊदी अरब ने कच्चे तेल की बढ़ती मांग पूरी करने के लिए उत्पादन बढ़ाने की वकालत की है।

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन ओपेक उत्पादन बढ़ाएगा। माना जा रहा है कि शुक्रवार को हुई बैठक में सऊदी अरब कट्टर प्रतिद्वंद्वी ईरान को इस मामले में सहयोग के लिए राजी कर लिया है। बैठक से एक दिन पहले तक ...

Read More »

मेलानिया ट्रंप की विवादित जैकेट पर मीरा राजपूत ने जो लिखा, यहां पढ़ें

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया द्वारा हाल ही में पहनी गई एक जैकेट चर्चा में बनी हुई है. टेक्सास में बाल प्रवासियों से मुलाकात के दौरान मेलानिया ने ये जैकेट पहनी थी. जैकेट पर लिखा था- I REALLY DON’T CARE, DO U?. जैकेट पर लिखे मैसेज की वजह से उनकी काफी आलोचना हो रही है. एक्टर शाहिद कपूर की पत्नी मीरा राजपूत ने भी मेलानिया की इस जैकेट पर निशाना साधा है. उन्होंने अपनी इंस्टा स्टोरी पर जैकेट पहने हुए मेलानिया की फोटो शेयर करते हुए लिखा- Seriously?. बता दें, सोशल मीडिया पर मेलानिया की इस जैकट पर बहस छिड़ गई है. लोग उन्हें असंवेदनशील करार दे रहे हैं. PHOTOS: शॉपिंग करने गईं मीरा राजपूत, दिखा बेबी बंप जारा ब्रांड की 39 डॉलर की इस जैकेट को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद जारी है. हालांकि पत्नी के विवादित जैकेट पर ट्रंप ने ट्वीट किया कि ''मेलानिया के जैकेट पर पीछे की ओर जो लिखा है वह फर्जी न्यूज मीडिया के लिए है. मेलानिया को पता चल गया है कि वे कितने झूठे हैं और वह अब वाकई में उनकी परवाह नहीं करती.'' Donald J. Trump ✔ @realDonaldTrump “I REALLY DON’T CARE, DO U?” written on the back of Melania’s jacket, refers to the Fake News Media. Melania has learned how dishonest they are, and she truly no longer cares! 3:21 AM - Jun 22, 2018 151K 112K people are talking about this Twitter Ads info and privacy प्रेग्नेंसी में शाहिद कपूर की पत्नी मीरा राजपूत को हो रही है दिक्कत, ये बताया वहीं मीरा राजपूत की बात करें तो इन दिनों वे अपनी दूसरी प्रेग्नेंसी एंजॉय कर रही हैं. अक्सर मीरा की बेबी बंप में तस्वीरें सामने आती हैं. मीरा ने पहली बेटी को साल 2016 में जन्म दिया था. उनका नाम मीशा है. शाहिद और मीरा की शादी 2015 में हुई थी.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया द्वारा हाल ही में पहनी गई एक जैकेट चर्चा में बनी हुई है. टेक्सास में बाल प्रवासियों से मुलाकात के दौरान मेलानिया ने ये जैकेट पहनी थी. जैकेट पर लिखा था- I REALLY ...

Read More »

ऐश्वर्या ने बदलवाया ‘फन्ने खां’ का गाना, नहीं पसंद आए थे बोल

ऐश्वर्या राय बच्चन स्टारर फिल्म 'फन्ने खां' पिछले काफी वक्त से सुर्खियों में है. फिल्म की शूटिंग तकरीबन पूरी हो चुकी थी सिवाय एक गाने के. यही गाना दो दिन पहले मुंबई में शूट किया जा रहा था. गाने की शूटिंग मुंबई के फिल्मिस्तान स्टूडियो में चल रही थी. खबर है कि गाने के लिरिक्स सुनने के बाद ऐश्वर्या ने निर्माता-निर्देशक से इसके बोल बदलने को कहा. फन्ने खां के लिए ऐश्वर्या को नहीं मिलेगी पहले से तय हुई फीस, ये है वजह बता दें कि एक्ट्रेस ऐश्वर्या फन्ने खां में एक ग्लैमरस आइटम नंबर कर रही हैं. पिंकविला की एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि बाद में ऐश्वर्या ने गाने के बोल हटाने की बजाए इस पूरे गाने को ही बदलने की बात कही जिसे प्रोड्यूसर्स ने माना भी. रिपोर्ट में बताया गया है कि गाने के बोल अच्छे नहीं थे इसलिए ऐश्वर्या ने निर्माता-निर्देशक से इसे बदलने को कहा. ऐश्वर्या की फन्ने खां की रिलीज फिर बढ़ी आगे, इस फिल्म से होगी क्लैश रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा गया है कि कोरियोग्राफर और निर्देशक के विचार नहीं मिले और दो दिनों का यह शूट ठीक से पूरा नहीं हो सका. ऐश्वर्या भी इससे खुश नहीं थी इसलिए उन्होंने भी अपने मन की बात बता दी. फिल्म की लीडिंग एक्ट्रेस ही इससे खुश नहीं थी इसलिए मेकर्स के पास गाने को बदलने के अलावा और कोई चारा नहीं बचा था.

ऐश्वर्या राय बच्चन स्टारर फिल्म ‘फन्ने खां’ पिछले काफी वक्त से सुर्खियों में है. फिल्म की शूटिंग तकरीबन पूरी हो चुकी थी सिवाय एक गाने के. यही गाना दो दिन पहले मुंबई में शूट किया जा रहा था. गाने की ...

Read More »

ये स्टार कर रहा बीमारी में इरफान की मदद, लंदन वाले घर की दी चाबी

ये स्टार कर रहा बीमारी में इरफान की मदद, लंदन वाले घर की दी चाबी

इरफान खान और उनका परिवार इस समय बुरे वक्त से गुजर रहा है. इरफान पिछले तीन महीने से न्यरोएंडोक्राइन कैंसर से जूझ रहे हैं. इस बीमारी में शरीर में ट्यूमर बन जाते हैं. इरफान लंदन में अपना इलाज करा रहे ...

Read More »