लेख

योगी की विकास के चार साल लिखेगी 2022 की पटकथा

जी हां, यूपी में 2022 में चुनाव होने है। विपक्षी पार्टियां मैदान मारने के लिए दिन-रात एक कर दी है। विपक्ष की तैयारियां योगी के चार साल की विकास के आगे कितना सफल होंगी, ये तो वक्त बतायेगा। लेकिन यह ...

Read More »

कब तक दहेज का कैंसर बहू-बेटियों की जान लेगा ?

देश एक, संविधान एक, लेकिन कानून अनेक? ये ऐसे सवाल है जो अरसे से उठाएं तो जा रहे है, पर उत्तर नहीं मिल पा रहा। हालांकि भाजपा का यह पहला एजेंडा है जो जब सत्ता में नहीं थी तो बराबर ...

Read More »

तोड़फोड़-बमबाजी पर भारी पड़ेगा राष्ट्रवाद व जयश्रीराम?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव तिथि ऐलान के बाद सियासी सरगरमी तेज हो गयी है। मुख्य मुकाबला भाजपा व टीएमसी में है। दोनों में जय श्रीराम और मुस्लिम तुष्टिकरण के बीच की दरार बढ़ती जा रही है। ऐसे में मुस्लिम मतों ...

Read More »

अदम्य साहस और शौर्य का प्रतीक है गणतंत्र दिवस

72वें गणतंत्र दिवस की तैयारियों में समूचा देश जुटा हुआ है। कोरोना संकट में पहली बार दिल्ली के राजपथ पर होने जा रहे गणतंत्र दिवस परेड में इस बार कुछ खास देखने को मिलेगा। कोरोना संकट को लेकर परेड में ...

Read More »

यूपी राज्य मुख्यालय संवाददाता समिति के पत्रकारों को खुला पत्र

– नवेद शिकोह पत्रकारिता लोकतांत्रिक व्यवस्था की पहरेदारी भी करती है। यानी हम लोग डेमोक्रेसी के पहरेदार भी है। जब पत्रकार अपनी इलेक्टेड समिति की लोकतांत्रिक व्यवस्था की पहरेदारी नहीं कर पा रहे हैं तो क्या ख़ाक हम देश की ...

Read More »

न नेहरू होते न ये पंगे होते!

वयं राष्ट्रे जागृयाम ।(58) -विवेकानंद शुक्ला आज कम्युनिस्ट चीन हिंदुस्तान को अपनी जो हेकड़ी दिखा रहा है उसको मज़बूत बनाने का काम नेहरु ने किया। आज गलवान घाटी में झड़प हो या आतंकवाद का समर्थन सब जगह चीन हिंदुस्तान से ...

Read More »

सुन लो वामपंथियों! तियानमेन स्क्वायर नरसंहार भूलने नहीं दिया जाएगा!

वयं राष्ट्रे जागृयाम ।(40) -विवेकानन्द शुक्ला तियानमेन स्क्वायर वही जगह है जहाँ 4 जून को लोकतंत्र की स्थापना के लिए जुटे 10000 छात्रों के ख़ून से चाइना की कम्युनिस्ट सरकार ‘लाल सलाम ‘ लिख दी थी।कहाँ गए सब लाल लम्पट ...

Read More »

न चीन लड़ेगा न भारत…!

-पवन सिंह चीन की सेनाएं और भारतीय फौजें जब आमने-सामने आईं उसी दौरान मैंने एक लेख लिखा था कि यह चौतरफा मुसीबतों में फंसे दो देश के दो नेताओं का चौसर है। इसकी बिसात कुछ यूं बिछेगी न तू जीता ...

Read More »

इस किताब को पढ़ने की नहीं है किसी में हिम्मत, रहस्यों से नहीं उठा है पर्दा

यह दुनिया रहस्यों से भरी पड़ी है| कुछ रहस्यों को तो इंसानों ने सुलझाने में सफलता हासिल कर ली है, लेकिन आज भी दुनिया में ऐसे कई रहस्य मौजूद हैं, जिन्हें सुलझाना लगभग नामुमकिन रहा है| एक ऐसा ही रहस्य ...

Read More »

काशी में परंपराओं ने ली करवट तो बेटियों ने पिता को कंधा ही नहीं बल्कि मुखाग्नि भी देकर निभाया फर्ज

वाराणसी विकास समिति के सदस्य और शव वाहिनी के संचालक व निजी बैंक के डीजीएम रहे सच्चिदानंद त्रिपाठी का गुरुवार को निधन हो गया तो उनकी चारों पुत्रियों ने न सिर्फ शव यात्रा में कंधा दिया बल्कि शव को बड़ी बेटी ...

Read More »